Ayushman card kaise banaye | आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे बनवाये?

जन आरोग्य गोल्डन कार्ड ऑनलाइन | Ayushman Bharat Yojana Golden Card | आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड डाउनलोड | PM Ayushman Bharat Golden Card Online Download | Ayushman card kaise banaye

आयुष्मान भारत, भारत सरकार की एक प्रमुख योजना है, जिसे सार्वभौमिक स्वास्थ्य कवरेज (यूएचसी) के दृष्टिकोण को प्राप्त करने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य नीति 2017 द्वारा अनुशंसित के रूप में शुरू किया गया था। इस पहल को सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) और इसकी रेखांकित प्रतिबद्धता को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, जो “किसी को पीछे नहीं छोड़ना” है।

Page Contents

आयुष्मान भारत योजना क्या है ?

जैसे कि आप सभी लोग जानते हैं आयुष्मान भारत योजना स्वास्थ्य बीमा योजना है। जिसके माध्यम से 5 लाख रुपया तक का उपचार मुफ्त प्रदान किया जाता है। इस योजना के लाभार्थियों को आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड प्रदान किया जाता है। यह कार्ड बनवाने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया जाता है। इस कार्ड को दिखाकर लाभार्थी अपना मुफ्त इलाज सूचीबद्ध अस्पताल से करवा सकता है।

इस लेख में आपको Ayushman Bharat golden card (Ayushman card kaise banaye) से संबंधित पूरी जानकारी प्रदान की जाएगी। इस लेख को पढ़कर आप जान सकेंगे कि आप कैसे अपना आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022 बनवा सकते हैं। इसके अलावा आपको आयुष्मान भारत स्कीम से संबंधित अन्य जानकारी भी प्रदान की जाएगी। तो आइए जानते हैं आयुष्मान भारत गोल्डन आरोग्य कार्ड कैसे बनवाते हैं।

आयुष्मान भारत स्वास्थ्य सेवा वितरण के क्षेत्रीय और खंडित दृष्टिकोण से व्यापक आवश्यकता-आधारित स्वास्थ्य देखभाल सेवा की ओर बढ़ने का एक प्रयास है। इस योजना का उद्देश्य प्राथमिक, माध्यमिक और तृतीयक स्तर पर स्वास्थ्य देखभाल प्रणाली (रोकथाम, पदोन्नति और चलने वाली देखभाल को कवर करना) को समग्र रूप से संबोधित करने के लिए पथप्रदर्शक हस्तक्षेप करना है। आयुष्मान भारत देखभाल दृष्टिकोण की निरंतरता को अपनाता है, जिसमें दो अंतर-संबंधित घटक शामिल हैं, जो हैं –

  • स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र (HWCs)
  • प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY)

1. स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र (HWCs)

फरवरी 2018 में, भारत सरकार ने मौजूदा उप केंद्रों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को बदलकर 1,50,000 स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र (HWCs) बनाने की घोषणा की। ये केंद्र व्यापक प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल (सीपीएचसी) प्रदान करने के लिए हैं, जिससे स्वास्थ्य सेवा लोगों के घरों के करीब पहुंचती है। वे मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य सेवाओं और गैर-संचारी रोगों, दोनों को कवर करते हैं, जिसमें नि:शुल्क आवश्यक दवाएं और नैदानिक सेवाएं शामिल हैं।

स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों की परिकल्पना उनके क्षेत्र में पूरी आबादी की प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल की जरूरतों को पूरा करने, समुदाय के करीब पहुंच, सार्वभौमिकता और समानता का विस्तार करने के लिए सेवाओं की एक विस्तृत श्रृंखला प्रदान करने के लिए की गई है। स्वास्थ्य संवर्धन और रोकथाम पर जोर व्यक्तियों और समुदायों को स्वस्थ व्यवहार चुनने और पुराने रोगों और रुग्णता के जोखिम को कम करने वाले परिवर्तन करने के लिए संलग्न और सशक्त बनाकर लोगों को स्वस्थ रखने पर ध्यान देने के लिए डिज़ाइन किया गया है।

2. प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (PM-JAY)

आयुष्मान भारत के तहत दूसरा घटक प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना या PM-JAY है क्योंकि यह लोकप्रिय है। यह योजना 23 सितंबर, 2018 को रांची, झारखंड में भारत के माननीय प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी।

आयुष्मान भारत PM-JAY दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है जिसका उद्देश्य रुपये का स्वास्थ्य कवर प्रदान करना है। 10.74 करोड़ से अधिक गरीब और कमजोर परिवारों (लगभग 50 करोड़ लाभार्थी) को माध्यमिक और तृतीयक देखभाल अस्पताल में भर्ती के लिए प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख, जो कि भारतीय आबादी के निचले 40% हैं। शामिल परिवार क्रमशः ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के लिए सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना 2011 (एसईसीसी 2011) के अभाव और व्यावसायिक मानदंडों पर आधारित हैं। 

PM-JAY को पहले राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (NHPS) के नाम से जाना जाता था। इसने तत्कालीन मौजूदा राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना (RSBY) को शामिल कर लिया था जिसे 2008 में लॉन्च किया गया था। इसलिए PM-JAY के तहत उल्लिखित कवरेज में ऐसे परिवार भी शामिल हैं जो RSBY में शामिल थे लेकिन SECC 2011 डेटाबेस में मौजूद नहीं हैं। PM-JAY पूरी तरह से सरकार द्वारा वित्त पोषित है और कार्यान्वयन की लागत केंद्र और राज्य सरकारों के बीच साझा की जाती है।

PM-JAY की क्या-क्या विशेषताएँ हैं ?

  • PM-JAY दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा/आश्वासन योजना है जो पूरी तरह से सरकार द्वारा वित्तपोषित है।
  • इसमें रुपये का कवर मिलता है। भारत में सार्वजनिक और निजी सूचीबद्ध अस्पतालों में माध्यमिक और तृतीयक देखभाल अस्पताल में भर्ती के लिए प्रति परिवार प्रति वर्ष 5 लाख।
  • 10.74 करोड़ से अधिक गरीब और कमजोर हकदार परिवार (लगभग 50 करोड़ लाभार्थी) इन लाभों के लिए पात्र हैं।
  • PM-JAY लाभार्थी को सेवा के बिंदु पर, यानी अस्पताल में स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं तक कैशलेस पहुंच प्रदान करता है।
  • PM-JAY ने चिकित्सा उपचार पर भयावह खर्च को कम करने में मदद करने की कल्पना की है, जो हर साल लगभग 6 करोड़ भारतीयों को गरीबी में धकेलता है।
  • इसमें अस्पताल में भर्ती होने से पहले के 3 दिनों तक और अस्पताल में भर्ती होने के बाद के 15 दिनों के खर्च जैसे निदान और दवाएं शामिल हैं।
  • इसमें परिवार के आकार, उम्र या लिंग पर कोई प्रतिबंध नहीं है।
  • सभी पूर्व-मौजूदा स्थितियों को पहले दिन से कवर किया गया है।
  • योजना के लाभ पूरे देश में पोर्टेबल हैं यानी लाभार्थी कैशलेस उपचार का लाभ उठाने के लिए भारत में किसी भी सार्वजनिक या निजी अस्पताल में जा सकता है।
  • सेवाओं में उपचार से संबंधित सभी लागतों को कवर करने वाली लगभग 1,393 प्रक्रियाएं शामिल हैं, जिनमें दवाएं, आपूर्ति, नैदानिक सेवाएं, चिकित्सक की फीस, कमरे का शुल्क, सर्जन शुल्क, ओटी और आईसीयू शुल्क आदि शामिल हैं, लेकिन यह इन्हीं तक सीमित नहीं है।
  • सरकारी अस्पतालों को स्वास्थ्य सेवाओं के लिए निजी अस्पतालों के बराबर प्रतिपूर्ति की जाती है।

PM-JAY ke kya labh hai 

भारत में विभिन्न सरकारी वित्त पोषित स्वास्थ्य बीमा योजनाओं के तहत लाभ कवर को हमेशा विभिन्न राज्यों में INR30,000 से INR3,00,000 प्रति परिवार के वार्षिक कवर से लेकर एक ऊपरी सीमा पर संरचित किया गया है, जिसने एक खंडित प्रणाली का निर्माण किया। PM-JAY सूचीबद्ध माध्यमिक और तृतीयक देखभाल स्थितियों के लिए प्रति वर्ष प्रत्येक पात्र परिवार को INR5,00,000 तक का कैशलेस कवर प्रदान करता है। योजना के तहत कवर में उपचार के निम्नलिखित घटकों पर किए गए सभी खर्च शामिल हैं।

  • चिकित्सा परीक्षा, उपचार और परामर्श
  • पूर्व अस्पताल में भर्ती
  • चिकित्सा और चिकित्सा उपभोग्य वस्तुएं
  • गैर-सघन और गहन देखभाल सेवाएं
  • डायग्नोस्टिक और प्रयोगशाला जांच
  • मेडिकल इम्प्लांटेशन सेवाएं (जहां आवश्यक हो)
  • आवास के लाभ
  • भोजन सेवाएं
  • इलाज के दौरान उत्पन्न होने वाली जटिलताएं
  • अस्पताल में भर्ती होने के बाद 15 दिनों तक अनुवर्ती देखभाल

INR 5,00,000 के लाभ फैमिली फ्लोटर आधार पर हैं, जिसका अर्थ है कि इसका उपयोग परिवार के एक या सभी सदस्यों द्वारा किया जा सकता है। RSBY में पाँच सदस्यों की पारिवारिक सीमा थी। हालाँकि, उन योजनाओं से मिली सीख के आधार पर, PM-JAY को इस तरह से डिज़ाइन किया गया है कि परिवार के आकार या सदस्यों की उम्र की कोई सीमा नहीं है। 

इसके अलावा, पहले से मौजूद बीमारियां पहले दिन से ही कवर हो जाती हैं। इसका मतलब यह है कि पीएम-जेएवाई द्वारा कवर किए जाने से पहले किसी भी चिकित्सा स्थिति से पीड़ित कोई भी पात्र व्यक्ति अब इस योजना के तहत उन सभी चिकित्सा स्थितियों के लिए इलाज करवा सकेगा, जिस दिन से उनका नामांकन हुआ था।

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड (PMJAY) का उद्देश्य

इस PMJAY Golden Card देश को उपलब्ध करवाने का सरकार का उद्देश्य देश के हर गरीबी रेख से नीचे आने वाले परिवारों को 5 लाख रूपये तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करना और उनकी आर्थिक रूप से मदद करना। जैसे कि आप लोग जानते है आज भी देश बहुत से लोग किसी न किसी बीमारी से ग्रसित है और उनके पास अपना इलाज करवाने के लिए पैसे नहीं होते इन सभी परेशानियो के देखते हुए केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत योजना को शुरू किया है जिससे किसी  भी गरीब आदमी को बीमारी से बचाया जा सके। इस योजना के तहत सालाना  देश के लगभग  10 करोड़ से अधिक गरीब परिवारों को स्वास्थ्य बीमा मिल रहा है।

जरुर पढ़े : Memechat kya hai | Meme chat keyboard kya hai | meme chat se paise kaise kamaye ( 100% genuine working )

Pradhanmantri Jan Arogya Card 2022 के दस्तावेज़

  • आधार कार्ड
  • मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड कैसे बनवाये?

देश  के जो इच्छुक लाभार्थी PMJAY गोल्डन कार्ड बनवाना चाहते है तो वह निचे दिए गए तरीके को फॉलो करे और लाभ उठाये। आप लोग दो  जगहों से अपना गोल्डन कार्ड बनवा सकते है और डाउनलोड भी कर सकते है।

जनसेवा केंद्र  द्वारा

  • सर्वप्रथम आवेदक को अपने नज़दीकी जनसेवा केंद्र जाना होगा जन सेवा केंद्र वाले आपका नाम आयुष्मान भारत योजना की सूची में देखेंगे।
  • अगर आपका नाम आयुष्मान भारत योजना सूची में उपलब्ध होगा तो उन्हें गोल्डन कार्ड दिया जायेगा।
  • इसके बाद आपको अपने सभी दस्तावेज़ों जैसे आधार कार्ड, राशन पत्रिका, पंजीकृत मोबाइल नंबर आदि को जन सेवा केंद्र के एजेंट को ले जाकर दे दे।
  • जिससे एजेंट आपका सफल पंजीकरण करेगा और आपको पंजीकरण आईडी प्रदान करेगा।
  • फिर जनसेवा केंद्र  वाले आपको 10 से 15 दिनों में आयुष्मान कार्ड प्रदान करेंगे और आपको गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए 30 रूपये की फीस देनी होगी।

पंजीकृत और निजी हॉस्पिटलों के द्वारा

  • सर्वप्रथम आपको अपने नज़दीकी निजी या सरकारी अस्पतालों में अपने दस्तावेज़ों जैसे आधार कार्ड, राशन पत्रिका, पंजीकृत मोबाइल नंबर आदि  के साथ जाना होगा
  • इसके बाद आपका नाम जन आरोग्य योजना की सूची में जाँचा जायेगा।
  • इस सूची में नाम आने के बाद ही आपको आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जायेगा।

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड 2022 कैसे डाउनलोड करे?

देश के लोग अपना Ayushman Bharat Golden Card जन सेवा केंद्र और डीएम के कार्यालय से प्रिंट करवा सकते है लेकिन आप गोल्डन कार्ड वही से डाउनलोड कर  सकते है जहा से आपने बनवाया है और जिस एजेंट से बनवाया है वही आपको डाउनलोड करके देगा | नीचे दिए गए तरीके को फॉलो करे |

  • सर्वप्रथम आपको Ayushman Bharat Cloud Website पर जाना होगा | क्लाउड वेबसाइट  पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा |
  • इस होम पेज पर आपको लॉगिन का विकल्प दिखाई देगा इस लॉगिन का फॉर्म खुलेगा इसमें आपको ईमेल आईडी और पासवर्ड डालकर SIGN  IN  के बटन पर क्लिक करे |
  • इसके बाद आपके सामने अगला पेज खुल जायेगा इसमें आपको आधार नंबर डालकर आगे  बढ़े और अगले पेज पर अपने अगुठे का निशान वेरीफाई करना होगा |
  • अंगूठा वेरीफाई करने के बाद अगला पेज खुलेगा इस पेज पर आपको बहुत से ऑप्शन देखे देंगे जिसमे से आपको अप्रूवड बेनिफिशियरी के ऑप्शन पर क्लिक कर दे | विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने गोल्डन कार्ड अप्रूव हुआ है उसकी लिस्ट आ जाएगी |
  • फिर लिस्ट में अपना नाम देखे और उसके आगे कंफर्म प्रिंट के ऑप्शन पर क्लिक कर दे | ऑप्शन के विकल्प पर क्लिक करने के बाद आप जन सेवा केंद्र वेलेट पर रीडायरेक्ट हो जायेगा |
  • इसके पश्चात् CSC वेलेट में अपना पासवर्ड डाले फिर पासवर्ड के बाद वेलेट पिन डाले | इसके बाद आप फिर से होम पेज पर आ जायेगे |
  • फिर आपको केंडिडेट के नाम के आगे डाउनलोड कार्ड का  विकल्प दिखाई देगा इस पर क्लिक कर दे और गोल्डन कार्ड को डाउनलोड कर ले |
  • इस तरह आप अपना आयुष्मान गोल्डन कार्ड डाउनलोड कर सकते है |

आयुष्मान भारत योजना सूचीबद्ध अस्पतालों से संबंधित जानकारी

आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपको किसी भी प्रकार का पंजीकरण करवाने की आवश्यकता नहीं है। क्योंकि यह योजना पूर्णता पात्रता पर आधारित है। जो कि वर्ष 2011 की जनगणना है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी एंपेनल्ड हॉस्पिटल के माध्यम से अपना मुफ्त इलाज करवा सकता है।

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को अस्पताल में अपना आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, मनरेगा जॉब कार्ड अथवा सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त फोटो पहचान पत्र ले जाना होगा।
  • जिसके माध्यम से लाभार्थी की पात्रता सुनिश्चित की जाएगी। सूचीबद्ध अस्पतालों की सूची भी हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके प्राप्त की जा सकती है।
  • इसके अलावा लाभार्थी द्वारा आयुष्मान सारथी ऐप डाउनलोड करके भी इस योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। सूचीबद्ध अस्पतालों की सूची मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय, ग्राम पंचायत कार्यालय, सामुदायिक व प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तथा आशा कार्यकर्ता के माध्यम से प्राप्त की जा सकती है।

Q. आयुष्मान कार्ड से क्या लाभ है?

उतर – इस योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को ₹500000 तक का हेल्थ इंश्योरेंस कवर प्रदान किया जाता है। इस योजना का लाभ लगभग 1 करोड़ 63 लाख से ज्यादा लाभार्थी उठा रहे हैं। आयुष्मान भारत कार्ड के माध्यम से लाभार्थी किसी भी निजी अस्पताल में जाकर अपना इलाज करवा सकते हैं।

Q. आयुष्मान कार्ड का लाभ कैसे लें?

उत्तर – गोल्डन कार्ड बनाने के पश्चात अब आप आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पूरी तरह से पात्र हैं। अब आप अपना अथवा अपने परिवार के किसी सदस्य का इस योजना के अंतर्गत अपना ₹500000 तक का फ्री इलाज करवा सकते हैं। इस योजना के अंतर्गत इलाज कराने के लिए आपको आयुष्मान योजना के अंतर्गत शामिल हॉस्पिटल में जाना होगा।

Q. आयुष्मान कार्ड मोबाइल से ऑनलाइन कैसे निकाले?

उत्तर – 1. सर्वप्रथम आपको अपने नज़दीकी निजी या सरकारी अस्पतालों में अपने दस्तावेज़ों जैसे आधार कार्ड ,राशन पत्रिका ,पंजीकृत मोबाइल नंबर आदि के साथ जाना होगा।
2. इसके बाद आपका नाम जन आरोग्य योजना की सूची में जाँचा जायेगा।
3. इस सूची में नाम आने के बाद ही आपको आयुष्मान कार्ड प्रदान किया जायेगा।

Q. आयुष्मान कार्ड बना है या नहीं कैसे पता करें?

उत्तर – आयुष्मान भारत-जन आरोग्य योजना से संबंधित किसी भी जानकारी या मदद के लिए सरकार ने एक निशुल्क हेल्पलाइन नंबर 14255 का इस्तेमाल कर सकते हैं। योजना के किसी लाभार्थी का नाम भी इस हेल्पलाइन की मदद से कंन्फर्म किया जा सकता है।

Q. आयुष्मान कार्ड पर इलाज कैसे करवाएं?

उत्तर – इस योजना के अंतर्गत इलाज कराने के लिए आपको आयुष्मान योजना के अंतर्गत शामिल हॉस्पिटल में जाना होगा। अस्पताल में ही आयुष्मान मित्र हेल्पडेस्क होगा। आपको अपने एड्रेस प्रूफ जैसे – आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, राशन कार्ड आदि के साथ अपना गोल्डन कार्ड भी लेकर जाना होगा।

Q. आयुष्मान कार्ड से कौन से अस्पताल में इलाज होता है?

उत्तर – Ayushman Bharat Hospital List 2022 के लाभ PMJAY के तहत जन सेवा केंद्र में आयुष्मान मित्र के माध्यम से गोल्डन कार्ड बनाये जा रहे है इस गोल्डन कार्ड के माध्यम से आप किसी भी सरकारी अस्पताल तथा निजी स्वास्थ्य केंद्र में 5 लाख तक का मुफ्त इलाज करा सकते है ।

Q. क्या सभी परिवार के सदस्यों का आयुष्मान भारत कार्ड बनाना अनिवार्य है?

उत्तर – जी हाँ, यदि आपके परिवार में 5 सदस्य होंगे तो आपको पांचो का कार्ड बनाना होगा जिससे आपको 25 लख तक का बीमा कवरेज उपलब्ध किया जायेगा और आप इसके माध्यम से फ्री में इलाज करवा सकते है और आप इस योजना का लाभ ले सकते है।

जरुर पढ़े : Phonepe se loan kaise le | फोन पे से लोन कैसे लें | phonepe se loan kaise milega ( 100% authentic info)

इसे भी पढ़े : Apna app me job kaise paye ? | अपना एप में जॉब कैसे पाएं ?

Conclusion( निष्कर्ष)

इस आर्टिकल के द्वारा हमने आपको Ayushman card kaise banaye, इसके लिए कौन-कौन से चीजों की जरूरत पड़ती है, क्या प्रोसेस है इत्यादि सभी चीजों के बारे में पूरे विस्तार से जानकारी दी है। हमे आशा हैं आप इसे अच्छे से समझ गए होंगे। इस तरह की और भी जानकारी के लिए आप हमारे वेबसाइट www.hindijaankaari.com पर विजिट करें।

आशा है कि Ayushman card kaise banaye ‘ के लिए यह आर्टिकल आपको प्रगति के मार्ग पर चलने में मदद करेगी। यदि आपके पास कोई अतिरिक्त सुझाव है, तो नीचे कमेंट सेक्शन में बेझिझक उल्लेख करें। साथ ही इसे दूसरों के साथ शेयर भी करें।

धन्यबाद !

Leave a Reply